लद्दाख मुद्दे पर ट्रम्प का झूठ आया सामने, भारत बोला- नहीं हुई पीएम – राष्ट्रपति में बातचीत


नई दिल्ली
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अब लद्दाख मुद्दे को लेकर सवालों में घिर गए हैं। भारत ने ट्रंप के उस दावे को गलत बताया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की थी। सरकार के सूत्रों ने शुक्रवार कहा कि पीएम मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति के बीच हाल में कोई बातचीत नहीं हुई है।

मोदी और ट्रम्प के बीच आखिरी बातचीत चार अप्रैल को हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के विषय पर हुई थी। दरअसल ट्रम्प ने भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को हल करने के लिए मध्यस्थता की पेशकश की थी।

उन्होंने कहा कि मोदी चीन के साथ सीमा विवाद को लेकर अच्छे मूड में नहीं है। राष्ट्रपति ने कहा था कि मैंने प्रधानमंत्री मोदी से इस बारे में बात की है, लेकिन इस बार चीन के साथ सीमा विवाद पर पीएम मोदी अच्छे मूड में नजर नहीं आ रहे हैं।

यह भी जाने: किम जोंग के बीमार होने की खबर पर ट्रंप ने उठाए सवाल, बोले- यह झूठ है


विदेश मंत्रालय पहले ही स्पष्ट कर चुका है कि भारत इस विवाद को हल करने के  लिए स्थापित तंत्र और राजनयिक संपर्कों के माध्यम से सीधे तौर पर चीन से बातचीत कर रहा है।

ट्रम्प ने अपने बयान में कहा था कि दोनों ही देशों के सैन्य ताकत बेहद मजबूत है। ऐसे में तनावपूर्ण माहौल में अगर मेरे मध्यस्थता करने से किसी प्रकार की अगर मदद मिलती है तो मैं मध्यस्थता जरूर करूंगा।