खाद्य तेलों के दाम में तेजी,120 रुपये किलो तक बिक रहा सोयाबीन तेल

भोपाल।प्रदेश की राजधानी भोपाल में खाद्य तेलों की धार और महंगी हो गई है। रसोई में सर्वाधिक इसतेमाल किए जाने वाले सोयाबीन तेल के भाव ही बीते 15 दिन में 10 रुपये प्रतिकिलो तक बढ़ गए हैं। इस वक्त मार्केट में सोयाबीन तेल 120 रुपये किलो तक बिक रहा है। मूंगफली एवं सरसों तेल के दामों में भी इजाफा हुआ है। तेल कारोबारियों की मानें तो कीमतों में इजाफा आगे भी जारी रहने की संभावना है, क्योंकि त्योहारों के बाद अब शादियों का दौर शुरू हो जाएगा। इससे खाद्य तेलों की खपत बढ़ जाएगी और भाव आसमान पर ही रहेंगे। वर्तमान में राजधानी समेत आसपास के जिलों में 250 से 300 टन तेलों की खपत प्रतिदिन है।

पिछले कुछ माह में महंगाई का सबसे अधिक असर रसोई पर पड़ा है। सब्जियों और दालों के साथ खाद्य तेल की धार भी महंगी हो रही है। एक महीने में खाद्य तेल 20 से 25 रुपये किलो तक महंगा हो चुका है। दीपावली के बाद भी तेल के भावों में तेजी बरकरार है। थोक कारोबारी विवेक साहू ने बताया कि 15 अक्टूबर के बाद से ही तेलों के भावों में तेजी आ रही है। एक सप्ताह से भाव उच्च स्तर पर पहुंच गए हैं।

अब 30 नवंबर तक ले सकेंगे ECLGS स्कीम का फायदा, MSME को होगा ये फायदा

थोक में सोयाबीन तेल के 110 रुपये किलो से ज्यादा भाव

सोयाबीन तेल के थोक भाव ही 110 रुपये किलो से ज्यादा हैं। इस कारण फुटकर दुकानों पर भी भाव में तेजी आई है। करीब 10 रुपये के मुनाफे पर फुटकर दुकानों पर सोयाबीन तेल बिक रहा है। इसके अलावा मूंगफली तेल 165 रुपये किलो तक पहुंच चुका है। सरसों तेल के भाव 140 रुपये प्रतिकिलो तक है।

राजधानी में तेल का कारोबार-

375 से अधिक थोक किराना दुकानें राजधानी में।

5000 से अधिक फुटकर किराना दुकानें।

200 टन सामान्य दिनों में होती है सप्लाई।

300 टन त्योहारों में हुई सप्लाई।

20 से 25 रुपये किलो तक भाव एक माह में बढ़े।

200 किमी के दायरे में पहुंचता है तेल।

सोयाबीन तेल के दाम में सबसे ज्यादा वृद्धि हो रही है। थोक में सोयाबीन तेल के भाव 110 रुपये किलो से अधिक हैं। सरसों एवं मूंगफली तेल के भाव में भी तेजी बनी हुई है। त्योहार के चलते मांग अधिक थी। भावों में कमी आने के आसार फिलहाल दिखाई नहीं दे रहे।

– अनुपम अग्रवाल, महासचिव थोक किराना व्यापारी महासंघ, भोपाल