म.प्र.काँग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष श्री सुरेन्द्र चौधरी ने कलेक्टर को लिखा पत्र।

कोरोना वायरस व लॉक डाउन के चलते छावनी क्षेत्रवासियों को  विभिन्न सुविधाओं मुहैया कराने की उठाई माँग।

पारदर्शिता के साथ निःशुल्क राशन व आर्थिक सहायता का हो वितरण…………सुरेन्द्र चौधरी

०- त्रिवेन्द्र जाट की रिपोर्ट

सागर/ मध्यप्रदेश काँग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री श्री सुरेन्द चौधरी ने  नरयावली विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत छावनी क्षेत्र  में कोरोना वायरस  व लॉक डाउन के चलते विभिन्न सुविधाओं से वंचित होकर अपना जीवन यापन कर रहे हजारों परिवारों के संबंध में सागर जिले के कलेक्टर श्री दीपक सिंह को पत्र लिखा है।

श्री सुरेन्द्र चौधरी ने पत्र में कहा है कि लॉक डाउन के 60 दिनों के उपरांत छावनी क्षेत्र के रहवासियों को शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों की तरह केंद्र व राज्य सरकार की  मनरेगा योजना के तहत काम मजदूरी नहीं मिल पा रही है

जिस कारण छावनी क्षेत्र के ऑटो रिक्शा चलाने वाले, हाथ ठेला चलाने वाले,बीड़ी मजदूर,पंचर बनाने वाले, मोटर साइकिल सुधारने वाले, हम्माली करने वालों सहित दैनिक मजदूरी कर अपना जीवन यापन करने वाले परिवारों के काम मजदूरी बंद होने के कारण उक्त सैकड़ों परिवार भूखों मरने की कगार पर है।उन्होंने कहा कि छावनी क्षेत्र में शासन/ प्रशासन की अपनाई गई

कार्यप्रणाली में पारदर्शिता के अभाव के कारण आमजनों में डर व भय का वातावरण इसलिए बना है कि लॉक  डाउन के 60 दिनों के बाद क्षेत्र में आज तक यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि क्षेत्र में कुल कितने लोग संक्रमित है और कितनों का सर्वे किया जा चुका है

पूर्व मुख्यमंत्री श्री दिग्विजय सिंह दमोह से सागर आते समय परेशान प्रवासी मजदूरों को देखकर बहेरिया चौराहे पर रुके

तथा शेष लोगो का सर्वे किया जाना है ओर  आगे की क्या योजना है। यही नही कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या और अनेक मौतें होने के वाबजूद भी कोई ठोस योजना नही बनाई गई है।श्री चौधरी ने कहा कि छावनी क्षेत्र की समस्त अस्पतालों को बंद कर देने से लोग विभिन्न बीमारियों से जूझ  रहे हैं

तथा कैंटोनमेंट घोषित क्षेत्रों से आवागमन बंद होने के कारण लोग छावनी अस्पताल तक भी इलाज कराने नहीं पहुंच पा रहे है जिसकी शिकायत दिनांक 29 मई 2020 को मुहाल नंबर 14 और 15 के लोगों द्वारा सीईओ छावनी परिषद  से की थी जिस पर उन्होंने  लोगों को आश्वासन दिया था

पूर्व मंत्री व देवरी बिधायक हर्ष यादव के जन्मदिन पर समर्थको ने किये फल वितरित

कि उनके क्षेत्र में क्लीनिक खोल दी जाएगी जो आज तक नहीं खुली है।पूर्व मंत्री श्री चौधरी ने पत्र में आगे कहा कि  छावनी क्षेत्र के हजारों लोगों की राशन पर्ची बंद होने की जानकारी छावनी प्रशासन को होने के बावजूद उक्त परिवारों को राशन का वितरण नहीं हो रहा है

तथा छावनी प्रशासन व स्वयंसेवी संस्थाओं के द्वारा जो भी खाद्य सामग्री वितरण की गई उसका वितरण समान रूप से नहीं किया जा रहा है जिस कारण बड़ी संख्या में लोग खाद्य सामग्री से वंचित है और भूखे मरने की कगार पर है।

विशेष किशोर पुलिस इकाई सीआईडी सागर ने बालविवाह पर लगाई रोक

छावनी क्षेत्र के गरीबी रेखा,अति गरीबी रेखा कार्ड धारक परिवारों के साथ-साथ जिन परिवारों की राशन पर्चीयां बंद है ऐसे सभी परिवारों को एक-एक माह का निः शुल्क राशन का वितरण तथा काम मजदूरी बंद होने के कारण प्रभावित लोगों को आर्थिक सहायता वितरण की जावे।

कलेक्टर को लिखे पत्र में पूर्व मंत्री श्री चौधरी ने माँग की है कि  कोरोना वायरस व लॉक डाउन के चलते छावनी क्षेत्र के रहवासी जो विभिन्न सुविधाओं से वंचित होकर भय ग्रस्त जीवन यापन कर रहे परिवारों को आवश्यक सुविधाएं मुहैया कराने के साथ-साथ निःशुल्क राशन का वितरण व आर्थिक सहायता का वितरण व पारदर्शी व्यवस्था सबको विश्वास में लेकर बनाई जावे।

UP:दरोगा ने ग्राहक बन किया सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, दो महिला और तीन पुरुषों को पकड़ा