आज शनिवार शाम 7 बजे से दुकानें होगी बंद, रविवार को 24 घंटे का टोटल लॉकडाउन

जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समुह की बैठक संपन्न

खरगोन। शुक्रवार को स्वामी विवेकानंद सभागृह में आयोजित जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समुह की बैठक में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर दो महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए है। इन निर्णयों पर चेंबर ऑफ कामर्स के भी विचार जाने गए। उसके पश्चात सहमति से निर्णय लिया गया।

आज शनिवार से प्रतिदिन शाम 7 बजे से (केवल अस्पताल और क्लिनिक परिसर में स्थित मेडिकल को छोड़कर) सभी दुकानें बंद रहेगी। वहीं रात्रि 9 बजे से प्रातः 5 बजे तक कर्फ्यू यथावत रहेगा। इसके अलावा रविवार को 24 घंटे का टोटल लॉकडाउन करने की घोषणा की गई है।

इस तरह अब शनिवार रात्रि 9 बजे से सोमवार प्रातः 5 बजे तक सभी प्रतिष्ठान बंद रहेंगे तथा सभी आमजन अपने घरों में ही रहेंगे। कोरोना के संक्रमण को रोकने व उसका प्रभाव कम करने के लिए ऐसा करना अत्यंत आवश्यक हो गया है। टोटल लॉकडाउन जिले की समस्त 8 नगर पालिका, नगर पंचायत तथा गोगावां ग्राम पंचायत में लागू होगा।

अत्यावश्यक सेवाओं में लगे अधिकारी व कर्मचारी को छोड़कर, अस्पताल व क्लिनिक परिसर में स्थित मेडिकल की दुकानें खुली रहेगी। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री शैलेंद्रसिंह चौहान, जिला पंचायत सीईओ श्री गौरव बेनल, एसडीएम अभिषेक गेहलोत, सीएमएचओ डॉ. रजनी डावर, नपा स्वास्थ्य अधिकारी प्रकाश चित्ते, होमगार्ड कमांडेड एमके लश्करी, डॉ. अजय जैन, डॉ. जेसी पालीवाल, कल्याण अग्रवाल, चेंबर ऑफ कामर्स के अध्यक्ष कैलाश अग्रवाल, बंशी अग्रवाल, ओम पाटीदार, शैलेष महाजन व अलताफ आजाद उपस्थित रहे।

भोजन पार्सल वाले होटल व रेस्टोरेंट रात्रि 9 बजे तक खुले रख सकते है

बैठक में शाम 7 बजे से व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रखने के निर्णय पर सदस्यों ने कहा कि शाम 7 बजे तक ऐसे रेस्टोरेंट व होटल, जो पार्सल पहुंचाने का काम करते है, वे प्रभावित होंगे। इसको देखते हुए कलेक्टर श्री गोपालचंद्र डाड ने निर्देशित किया कि केवल ऐसे रेस्टोरेंट या होटल, जो पार्सल की सुविधाएं उपलब्ध करा रहे है, वे रात्रि 9 बजे तक होटल संचालित कर सकते है। इसके अलावा बैठक में चेंबर ऑफ कामर्स से चर्चा करते हुए कलेक्टर श्री डाड ने कहा कि अब व्यापारी वर्ग भी लापरवाही कर रहा है। व्यापारी भी संक्रमित होने लगे है।

इसके लिए शाम 7 बजे दुकानें बंद करने के अलावा यदि कोई व्यापारी बिना मास्क के और फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए नहीं पाया गया, तो एफआईआर तक की कार्यवाही की जाएगी। पुलिस अधीक्षक श्री चौहान ने कहा कि एफआईआर से पूर्व बिना मास्क व फिजिकल डिस्टेंस का पालन नहीं करने की जांच वीडियों फुटेज या अन्य जानकारी के बाद ही कार्यवाही करेंगे।

इंद्रटेकड़ी आम जनता के लिए रहेगा प्रतिबंध

बैठक में आगामी 5 जुलाई को गुरू पूर्णिमा पर होने वाले आयोजन को लेकर भी चर्चा की गई। सदस्यों ने कहा कि इंद्रटेकड़ी पर आयोजित होने वाले गुरू पूर्णिमा के आयोजन में 1 लाख से 2 लाख तक की संख्या में आम जनता आती है। इसको लेकर समिति ने निर्णय लिया कि गुरू पूर्णिमा पर आमजनों के लिए प्रतिबंध रहेगा। सिर्फ समिति द्वारा चिन्हित 500 व्यक्ति ही दर्शन कर सकेंगे। इसके लिए मंदिर समिति ही पास भी जारी करेगी। इसके लिए गांव-गांव के पदाधिकारी को ही कार्ड दिया जाएगा।

यह भी पढ़े- शिवराज मंत्रिमंडल में आएंगे 25 नए मंत्री, इन्हें मिल सकता है मंत्री पद, देखें लिस्ट