देवरी जनपद द्वारा लगाये गये आरओ बाटर स्कूलो मै पढे बंद

पचास हजार से लेकर एक लाख से ज्यादा के बने फर्जी बिल

०-त्रिवेंद्र जाट की रिपोर्ट

देवरी सागर – मध्यप्रदेश के सागर जिले की देवरी जनपद पंचायत द्वारा शासन की राशि से जो देवरी केस्कूलो मै आरओ बाटर कूलर लगाये गये है वो लगने के दूसरे दिन से ही बंद पडे है व किसी भी आरओ मै पूरा कम्पीट सामान्य नही लगाया गया वो तो उल्टे सीधे सेटिंग करके स्कूलो मै थोप कर नाम मात्र के लिये लगा दिये गये है

स्कूलो के बच्चो को न गर्मी मे उसका लाभ मिल पाया आर ओ . स्कूलो मै दिखावे मात्र के लिये लगे है जब स्कूलो के लगे आरओ मामले की ग्रामीणो द्वारा शिकायत पत्रकारो से की गई तब पत्रकारो ने सभी स्कूलो का निरीक्षण किया

तब जमीनी स्तर पर देखा गया तो पूरे आरओ मामले मै बडा भ्रष्ट्राचार देखने मिला वहाँ लगे आरओ सभी अधूरी सामग्री के साथ लगे पाये तो कुछ डिबवे मै पैक बंद पाये गये ब जमीनी स्तर पर स्कूल मै लगे आर ओ देखे तो वो करीब दस से पन्द्रह हजार कीमत के लगे पाये गये और बिल का पैमेन्ट स्कूलो द्वारा पचास हजार से लेकर एक लाख पचास हजार तक किया गया

जब स्कूलो के प्रधान अध्यापक व प्राचार्य गणो से पूछा गया तो भ्रष्ट्राचार मामले मै फसने के डर से उनने साफ तौर पर खुदका पलडा झाड़कर जनपद पंचायत से दबाब बनाकर बिल पैमेन्ट करवाने की बात कर डाली और कहा कि हमलोगो का आरओ मामले मै कुछ लेना देना नही है यदि भ्रष्टाचार है तो वो जनपद द्वारा किया गया है हम लोग छोटे कर्मचारी है हमे अपने बडे अधिकारी की सुननी पड़ती है l

कुछ आरओ तो गायब है व कुछ आरओ तोदस हजार राशि के आरओ के ऊपर बडा डिब्बा बनवाकर बडा दिखाकर करीब एक से दो लाख राशि निकाली गई सोचने की बात है कि भाजपा सरकार केन्द्र व राज्य मै है मगर ऐसे खुले तौर पर आरओ भ्रष्ट्राचार मामले मै भाजपा सरकार के मंत्री विधायक भाजपा जिलाध्यक्ष चुप्पी साधे हुये है और अधिकारी लोगो की चुप्पी शंका का बिषय बन रहा है ।

ऐसा प्रतीत किया जा रहा है कि आरओ बाटर कूलर मामले मै लाखो का भ्रष्टाचार किया गया है सभी का चुप्पी साधने का कारण कही लिप्तता तो नही है देखते है आगे क्या कार्य वा होती या मामले को सभी दबाने मै लगे है l