विधायक सचिन बिरला ने सीधे जिनिंग में पहुँच कर किसानों से चर्चा की,सीसीआई की अनिमितताओं की शिकायत मिली थी

सनावद / किसानों की शिकायत पर विधायक सचिन बिरला शनिवार को एक निजी जीनिंग में पहुंचे और किसानों से उनकी कठिनाइयों पर विस्तारपूर्वक चर्चा की। किसानों ने बिरला को बताया कि सीसीआई द्वारा कपास खरीदी में अनियमितताएं की जा रही हैं।किसानों का कपास तौलने में पक्षपात किया जा रहा है और गुणवत्ता के नाम पर कम दाम दिए जा रहे हैं । कुछ किसानों ने यह भी शिकायत की प्रति क्विंटल कपास पर चार किलो कपास काटा जा रहा है।

 

 

इस संबंध में बिरला ने सीसीआई और मंडी अधिकारियों से चर्चा की। बिरला ने निर्देश दिए कि कपास खरीदी हेतु जिन किसानों को उनके मोबाइल पर मैसेज दिए गए हैं उन्हें मंडी प्रशासन द्वारा टोकन भी दिए जाएं।ताकि किसानों के कपास की समय पर तुलाई हो सके। बिरला ने कहा कि कपास तुलाई के दौरान कपास कम नहीं तौला जाए।

कपास के पूरे वजन का दाम किसानों को मिलना चाहिए।बिरला ने मंडी अधिकारियों को निर्देश दिए की किसानों का समय बर्बाद नहीं किया जाए और निर्धारित समय पर कपास खरीदा जाए। बिरला ने जीनिंग के कपास खरीदी के रिकार्ड भी चेक किए। बिरला ने प्रति क्विंटल पर चार किलो कपास काटे जाने के मामले की जांच कराने का आश्वासन किसानों को दिया ।

यह भी देखे: विधायक ने कहा मेरी घोषणा पूरा करने में स्वास्थ्य विभाग कर रहा कोताही:सचिन बिर्ला

बिरला ने किसानों को उनके कपास का वाजिब दाम दिए जाने के निर्देश अधिकारियों को दिए और कहा कि किसानों के साथ अन्याय बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। बिरला की समझाइश के बाद जीनिंग में कपास तुलाई का कार्य आरंभ हुआ। बिरला ने जीनिंग का निरीक्षण भी किया।इस दौरान कांग्रेस नेता मोहन मलगांया और दशरथ पटेल भी मौजूद थे।