विपक्षी राजनीतिक दलों के प्रमुख प्रतिनिधियों की बैठक संपन्न

प्रशासन की दोषपूर्ण कार्य प्रणाली के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित

 

०-त्रिवेन्द्र जाट की रिपोर्ट

सागर/ जिला प्रशासन की दोषपूर्ण कार्यप्रणाली को लेकर विपक्षी दलों के प्रमुख प्रतिनिधियों की आवश्यक बैठक का आयोजन म.प्र.कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री श्री सुरेंद्र चौधरी द्वारा किया गया।

बैठक में वरिष्ठ सपा. नेता श्री गौरी सिंह यादव, भा. क.पार्टी से कामरेड श्री अजीत कुमार जैन, जिला ग्रामीण कांग्रेस से श्री अखिलेश मोनी केशरवानी, आप पार्टी से डॉ.स्वदीप श्रीवास्तव, मा. क. पार्टी से श्री रामचरण लंबरदार,माकपा सेश्री राहुल भायजी,लो. स. पार्टी से सुधीर ठाकुर,शरद सेन आदि राजनैतिक दलों के प्रमुख प्रतिनिधियों की उपस्थिति में आयोजित बैठक में कोरोना वायरस संक्रमण से उत्पन्न आपदा की स्थिति पर चिंतन व चर्चा की गई ।

सभी राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों ने सागर जिला प्रशासन की दोषपूर्ण कार्य प्रणाली पर निंदा प्रस्ताव पारित किया कि जिले में आपदा से संबंधित आयोजित होने वाली बैठकों में केवल सत्ताधारी दल के लोग ही बुलाए जाते हैं जो निंदनीय है जबकि निर्णय समूचे जिले व नगर के संबंध में लिए जाते हैं ऐसी विषम परिस्थितियों में केवल सत्ताधारी दल की सुनी जाना निंदनीय कृत्य है।

जिला प्रशासन जो निर्णय करता है वह निर्णय सभी राजनैतिक दल व जिले के सभी नागरिकों पर लागू होते हैं ऐसे में सभी को सुना जाना लोकतांत्रिक होगा।विभिन्न दलों के प्रतिनिधियों ने एक आवाज में सर्वसम्मति से जिला प्रशासन से मांग की है ।

कि जिला आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में सभी दलों के प्रतिनिधियों व गणमान्य नागरिकों को शामिल किया जाए साथ ही प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के जनप्रतिनिधि और गणमान्य नागरिकों को भी शामिल किया जाकर निर्णय लिए जाएं।

यह भी पढ़े-मनरेगा में गरीबों को 50 दिन का भी रोजगार नहीं मिला..!!

ताकि जिले के साथ साथ ब्लाक व तहसील स्तर के सुझावों को भी शामिल किया जा सके साथ ही निर्णय लिया गया कि शीघ्र ही एक प्रतिनिधिमंडल जिला कलेक्टर से मुलाकात कर ज्ञापन सौपेंगा। बैठक का संचालन अखिलेश मोनी केशरवानी ने किया और अंत में आभार अशरफ खान ने माना ।

यह भी पढे- मनरेगा के काम मे मिली परमार कालीन कि मुर्ति