विधायक सचिन बिरला सीमित साथियों के साथ नीलकंठ कावड़ यात्रा पर निकले

बेड़िया / सावन की झमाझम बारिश के बीच सोमवार को विधायक सचिन बिरला सीमित साथियों के साथ नीलकंठ कावड़ यात्रा पर निकले।प्रातः 4 बजे स्थानीय हनुमान मंदिर में पूजन-अर्चन के बाद नीलकंठ कावड़ यात्रा ओंकारेश्वर के लिए रवाना हुई।

सोशल डिस्टेंसिंग और फेस मास्क का पालन
कावड़ यात्रा में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग और फेस मास्क जैसी अनिवार्यताओं का पूरी तरह पालन किया गया।

कोरोना महामारी से मुक्ति की कामना- यात्रा के आरंभ में बिरला ने कहा कि इस वर्ष विश्व को कोरोना महामारी से मुक्त करने और देश की सुख,शांति और समृद्धि की कामना के साथ नीलकंठ कावड़ यात्रा का आयोजन किया जा रहा है।बिरला ने कहा कि कावड़ यात्राएं हमारी सांस्कृतिक एवं धार्मिक परंपरा का अंग हैं। बिरला ने कहा कि नीलकंठ कावड़ यात्रा का यह छठवां वर्ष है और आगे भी जारी रहेगी।

राम मंदिर निर्माण की खुशी में दीप जलाने का आव्हान:
बिरला ने नागरिकों से अयोध्या में राम मंदिर के भूमिपूजन की खुशी में अंतिम श्रावण सोमवार से 5 अगस्त तक अपने – अपने घरों में दीपक प्रज्ज्वलित करने का आव्हान भी किया।

जगह-जगह स्वागत:कावड़ यात्रा के मार्ग में ग्राम सताजना,चितावद,बड़ूद, एकता नगर, सनावद, इनपुन भोगवां में नागरिकों ने बिरला और उनके साथियों का सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए अभिनंदन किया। कावड़ यात्रा का दोपहर 12 बजे ओंकारेश्वर में नर्मदा स्नान और पूजन-अर्चन के उपरांत समापन हुआ। इस दौरान समाजसेवी इंदर बिर्ला, नरहरि दांगी,सौभाग पटेल,मोहन मलगांया,पंकज मालाकार,आरिफ पठान,नितिन रावत आदि उपस्थित थे।

उल्लेखनीय है कि नीलकंठ कावड़ यात्रा का वृहद स्तर पर आयोजन किया जाता है। जिसमें निमाड़ क्षेत्र के हजारों श्रद्धालु जुटते रहे हैं। कावड़ यात्रा में चलित एवं नयनाभिराम धार्मिक झांकियां आकर्षण का केंद्र रहती हैं। किंतु इस वर्ष कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए कावड़ यात्रा का सीमित स्तर पर आयोजन किया गया।