हेयर कटिंग सेलून के व्यवसाय से जुड़े प्रत्येक सेन परिवार को विधायक सचिन बिरला ने की 1100 -1100 सौ रुपये की मदद

सनावद / कोरोना लॉक डाउन के कारण लंबे समय से बेरोजगारी और आर्थिक संकट से जूझ रहे क्षेत्र के हेयर कटिंग सेलून के व्यवसाय से जुड़े प्रत्येक सेन परिवार को  विधायक सचिन बिरला ने ग्यारह-ग्यारह सौ रुपए की सहायता प्रदान करने की घोषणा की। क्षेत्र के सेन समाज के प्रतिनिधिमंडल ने शनिवार को विधायक बिरला से उनके डुडगांव स्थित आवास पर भेंट की और लॉक डाउन के कारण सेन समाज को हो रही कठिनाइयों से अवगत कराया।

इस संबंध में प्रतिनिधिमंडल ने विधायक बिरला को एक ज्ञापन भी सौंपा।प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि लंबे कोरोना लॉक डाउन के कारण हेयर कटिंग और शेविंग का कार्य पूरी तरह ठप है।

इस कारण सेलून कार्य में संलग्न प्रत्येक सेन परिवार घोर आर्थिक संकट से जूझ रहा है। ज्ञापन में कहा गया है कि लॉक डाउन के कारण सेन परिवार दुकानों का किराया भी नहीं दे पा रहे हैं।सेन समाज के अनेक युवा दैनिक वेतन के आधार पर सेलूनों में कार्यरत थे। उनके समक्ष जीवन यापन का संकट आ गया है। प्रतिनधिमंडल ने विधायक बिरला से मदद की अपील की।

बिरला ने सेन समाज की कठिनाइयों को गंभीरता से लिया और बड़वाह विधानसभा क्षेत्र के सेलून व्यवसाय से जुड़े प्रत्येक परिवार को 11-11 सौ रुपए की सहायता प्रदान की घोषणा की। प्रतिनधिमंडल ने मदद के लिए विधायक बिरला के प्रति आभार व्यक्त किया। प्रतिनिधिमंडल में सेन समाज के श्यामलाल सेन,अशोक सेन,प्रदीप सेन,जय सेन,दीपक सेन, श्यामलाल सेन,कमलेश सेन आदि शामिल थे।

विधायक बिरला ने लिखा मुख्यमंत्री को पत्र:–
विधायक बिरला ने कोरोना लॉक डाउन के कारण प्रदेश के सेन समाज की कठिनाइयों को लेकर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान को पत्र प्रेषित किया है। बिरला ने पत्र में कहा है कि लंबे कोरोना लॉक डाउन के कारण हेयर कटिंग और शेविंग के कार्य में संलग्न सेन समाज का कामकाज पूरी तरह ठप हो गया है।

इस कारण सेलून कार्य से जुड़े सेन परिवारों को बेरोजगारी और आर्थिक संकट से जूझना पड़ रहा है और जीवन यापन का संकट आ गया है।बिरला ने सेन समाज की मदद के लिए मुख्यमंत्री के समक्ष सेन समाज की ओर से छह मांगें रखी हैं।बिरला ने अपने पत्र में मांग की है कि सेलून कार्य से जुड़े प्रत्येक सेन परिवार को प्रदेश सरकार की ओर से निश्चित आर्थिक सहायता प्रदान की जाए।

किराए की दुकानों में सेलून संचालित करने वाले सेन परिवारों को कोरोना लॉक डाउन की समयावधि का सेलून दुकान का किराया दिया जाए।सेलून संचालकों और उनमें कार्यरत कर्मचारियों का समय-समय पर स्वास्थ्य परीक्षण किया जाए।लॉक डाउन के उपरांत सेलून आरंभ होने पर प्रत्येक सेलून दुकान संचालकों को मानद स्तर के सेनिटाइजर और फेस मास्क उपलब्ध कराए जाएं।

किसी सेलून कार्यकर्ता को कोरोना का संक्रमण होने की स्थिति में उसे कोरोना योद्धा मानते हुए 50 लाख रुपए की बीमा सुविधा दी जाए और सेन समाज के नागरिकों को “नाई” के स्थान पर “सेन” शब्द से संबोधित किया जाए।

विधायक ने कहा मेरी घोषणा पूरा करने में स्वास्थ्य विभाग कर रहा कोताही:सचिन बिर्ला