भारत में कम हो रहे कोरोना वायरस के मामले, अब तक ठीक हुए 88 प्रतिशत लोग: PM मोदी

 

पीएम मोदी ने ग्रैंड चैलेंजेज वार्षिक बैठक 2020 के उद्घाटन समारोह को संबोधित किया (File Photo)

पीएम मोदी ने ग्रैंड चैलेंजेज वार्षिक बैठक 2020 के उद्घाटन समारोह को संबोधित किया (File Photo)

Grand Challenges Annual Meeting 2020: पीएम मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान का उल्लेख करते हुए कहा कि भारत ने स्वच्छता बढ़ाने और शौचालयों की संख्या बढ़ाने समेत अनेक प्रयास किये हैं जो बेहतर स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली में योगदान दे रहे हैं.

 

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सोमवार को ग्रैंड चैलेंजेज वार्षिक बैठक 2020 (Grand Challenges Annual Meeting 2020) के उद्घाटन समारोह को संबोधित किया. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सही समय पर फल प्राप्त करने के लिए विज्ञान और नवोन्मेष में अग्रिम निवेश जरूरी है. पीएम मोदी ने कहा कि नवोन्मेष की यात्रा साझेदारी और जन भागीदारी से निर्धारित होनी चाहिए. विज्ञान और नवाचार में निवेश करने वाले समाज ही भविष्य को आकार देंगे, लेकिन बिना दूरदृष्टि के यह नहीं किया जा सकता.

देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) की स्थिति पर प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत में कोविड-19 के दैनिक मामलों की संख्या और इसकी वृद्धि दर में कमी आ रही है, वायरस से स्वस्थ होने की दर 88 प्रतिशत तक हो गई है जो इस मामले में सर्वोच्च दरों में शामिल है. प्रधानमंत्री ने कहा कि ऐसा इसलिए संभव हुआ है क्योंकि भारत नियमों के साथ छूट वाले लॉकडाउन (Lockdown) को लागू करने वाले पहले देशों में से एक था. पीएम मोदी ने कहा कि भारत अब कोविड-19 का टीका (Covid-19 Vaccine) विकसित करने में भी अग्रणी है.

ये भी पढ़ें- जिस संविधान की बात कर रहे हो उसकी यहां बैठकर धज्जियां उड़ाते हैं हमलोग, कांग्रेस नेता पर भड़कीं पैनलिस्ट

‘भारत में मजबूत और जीवंत वैज्ञानिक समुदाय’प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत में, हमारे पास एक मजबूत और जीवंत वैज्ञानिक समुदाय है. हमारे पास अच्छे वैज्ञानिक संस्थान भी हैं. कोविड-19 से लड़ते हुए वे विशेष रूप से पिछले कुछ महीनों के दौरान भारत की सबसे बड़ी संपत्ति रहे हैं. कंटेनमेंट से लेकर क्षमता निर्माण तक, इन्‍होंने चमत्कार हासिल किए हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि यह बैठक भारत में फिजिकल रूप से आयोजित की जानी थी, लेकिन बदली हुई परिस्थितियों में, इसे वर्चुअली आयोजित किया जा रहा है. तकनीक की ऐसी ही ताकत है कि एक वैश्विक महामारी भी हमें अलग नहीं रख सकी.

ये भी पढ़ें- NEET 2020: व‍िशेष परीक्षा कल होगी आयोजित, जान लें ये जरूरी बातें

पीएम मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान का उल्लेख करते हुए कहा कि भारत ने स्वच्छता बढ़ाने और शौचालयों की संख्या बढ़ाने समेत अनेक प्रयास किये हैं जो बेहतर स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली में योगदान दे रहे हैं.

बता दें यह कार्यक्रम प्रमुख वैश्विक चुनौतियों को हल करने पर विचार-विमर्श करने के लिए वैज्ञानिकों और इनोवेटर्स को एक साथ लाता है.

मध्यप्रदेश:पति ने पत्नी और एक वर्षीय मासूम के किए 22 टुकड़े,बोरी में ले जाते ग्रामीणों ने दबोचा

Source link